ब्रेकिंग न्यूज़ अपडेट

मूर्तियां बनाने की फैक्टरी में लगी भीषण आग, तकरीबन आठ लाख का नुकसान

लिसाड़ीगेट थाना क्षेत्र के इलाके में मूर्ति बनाने की फैक्टरी में भीषण आग लग गई। फैक्टरी आबादी में होने के कारण पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया। सूचना पर दमकल विभाग की छह गाड़ियां मौके पर पहुंचीं और काफी देर की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। तकरीबन आठ लाख रुपये के नुकसान होना बताया गया है।

प्रह्लादनगर में भाजपा नेता संजय नारंग का मकान है। वह दृष्टि हैंडीक्राफ्ट के नाम से एक फर्म चलाते हैं। उन्होंने मकान के प्रथम और द्वितीय तल पर पॉलीरेजन से मूर्तियां बनाने की फैक्टरी चला रखी है। सोमवार दोपहर फैक्टरी में अचानक आग लग गई। देखते ही देखते आग की लपटें उठने लगीं। आसमान में काले धुएं का गुबार दिखाई देने लगा। इसकी सूचना पाकर लिसाड़ीगेट थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। आग भड़कने के दौरान धमाके भी हो रहे थे। इसको देखते हुए पुलिस ने दोनों ओर का रास्ता बंद करा दिया। संजय नारंग और उनके पड़ोसी कृष्ण कुमार समेत कई लोगों के मकान खाली करा लिए। इस दौरान संजय नारंग के मकान की एक दीवार भरभराकर गिर गई। गनीमत रही कि कोई उसकी चपेट में नहीं आया। कुछ ही देर में दमकल अधिकारी संजीव कुमार के नेतृत्व में छह गाड़ियां मौके पर पहुंची और आग बुझाने में जुट गईं। मुख्य अग्निशमन अधिकारी अजय शर्मा भी आ गए। जब तक आग बुझाई गई, तब तक लाखों का नुकसान हो चुका था।

फैक्टरी में काफी संख्या में तैयार और अधबनी मूर्तियां रखी थीं। यह मूर्तियां पॉलीरेजन नाम के मैटीरियल से बनाई जाती हैं, जो कि ज्वलनशील होता है। इसके अलावा केमिकल भी रखा था, जिससे आग एकदम भड़क गई।

आग लगने की सूचना के आधा घंटा बाद दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। इंस्पेक्टर लिसाड़ीगेट नजीर अली खान ने अपनी जीप भेजकर फायर ब्रिगेड के लिए रास्ता खाली कराया।
प्रह्लादनगर रिहायशी इलाका है। यहां फैक्टरी के संचालन से लोग परेशान दिखे। लोगों ने बताया कि यहां आसपास तीन फैक्टरी संचालित हैं, जो कि अवैध हैं। कई बार शिकायत की गई, लेकिन इन फैक्टरियों को हटाने के लिए कोई कार्रवाई पुलिस-प्रशासन ने नहीं की है। वहीं पुलिस भी संजय नारंग की फैक्टरी को गोदाम बताने पर तुली हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *