सरकार की नीयत साफ नहीं थी इसलिए मुझे छात्रों के बीच नहीं जाने दिया गया- अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के चीफ अखिलेश यादव को इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ के कार्यक्रम में नहीं जाने दिया गया। पुलिस ने उन्‍हें लखनऊ एयरपोर्ट पर रोक लिया जिसके बाद लखनऊ और इलाहाबाद में जमकर हंगामा हुआ। इसके बाद अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर यूपी सरकार पर हमला बोला। अखिलेश ने कहा कि मुझे दुख है कि वहां मुझे जाने नहीं दिया गया। मैं वहां अपनी बात रखता लेकिन सरकार की नीयत साफ नहीं रही। मैंने महीनों पहले अपना कार्यक्रम भेजा था जब उदय यादव 27 दिसंबर को जीत कर आए थे।

रात में कुछ पुलिस अधिकारियों ने रेकी की
अखिलेश ने कहा कि रात में कुछ पुलिस के अधिकारी रेकी करके गए। सुबह साढ़े छह बजे तीन अधिकारी मेरे घर के पास बैठा दिए। हालांकि एयरपोर्ट परिसर में वो नहीं जा सकते। अधिकारियों ने मुझे रोक लिया। जबकि उन्हें एयरपोर्ट में जाने की इजाजत नहीं थी। यूपी सरकार पर हमला बोलते हुए अखिलेश यादव ने कहा किसरकार छात्रों से डर रही है। जो सरकार छात्रों से डर जाए उनके पास कुछ बचा नहीं है। नौजवानों के भविष्य से खिलवाड़ किया है इन्होंने। उन्हें मजबूर किया है कि वो बेरोजगार बने रहें। अधिकारी तो नौकरी वाले लोग हैं जो ऊपर वाले लोग कहेंगे वो अधिकारी करते हैं। घबराई हुई सरकार है ये यूपी की। नौजवान इंतजार कर रहा है कि उसे कब मौका मिलेगा। अखाड़ा परिषद की अध्यक्ष नरेंद्र गिरी जी ने भी अपने यहां भोजन रखा था। ये यूपी के सीएम कैसे साधु-संत हैं। जो दूसरे साधु-संतों से नहीं मिलने देना चाहते। उनसे क्या सीखोगे- ठोको नीति, रोको नीति।

अखिलेश ने ट्वीट कर कही ये बातें
अखिलेश ने ट्वीट किया, ‘एक छात्र नेता के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से सरकार इतनी डर रही है कि मुझे लखनऊ हवाई अड्डे पर रोका जा रहा है।’ इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में मंगलवार को छात्रसंघ का उद्घाटन समारोह होना था। अखिलेश इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए निकले थे। वह लखनऊ एयरपोर्ट पर पहुंचे, लेकिन उन्हें प्लेन पर चढ़ने से रोक दिया गया। इस दौरान पुलिस और प्रशासन के अधिकारी एयरपोर्ट पर तैनात रहे और प्लेन के गेट के पास घेरकर खड़े हो गए।

मुझे एयरपोर्ट पर बंधक बनाया गया
अखिलेश यादव ने फिर लिखा, ‘मुझे लखनऊ एयरपोर्ट पर बंधक बनाया गया है। बिना किसी लिखित आदेश के मुझे हवाई जहाज पर चढ़ने से रोका जा रहा है। इससे साफ है कि सरकार छात्रसंघ के शपथग्रहण समारोह से कितनी डरी हुई है। बीजेपी जानती है कि देश के युवा इस अन्याय को बर्दाश्त नहीं करेंगे।’ एक के बाद अखिलेश के ट्विटर हैंडल से कई ट्वीट हुए। तीसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘बिना किसी लिखित आदेश के मुझे एयरपोर्ट पर रोका गया। पूछने पर भी स्थिति साफ करने में अधिकारी विफल रहे। छात्र संघ कार्यक्रम में जाने से रोकना का एकमात्र मकसद युवाओं के बीच समाजवादी विचारों और आवाज को दबाना है।’

जब अखिलेश थे सीएम तब योगी को भी इलाहाबाद जाने से रोका था
20 नवम्बर 2015 को इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ समारोह में गोरखपुर के तत्कालीन सांसद रहे योगी आदित्यनाथ को शामिल होने जाना था। तब यूपी में समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव की सरकार थी। अखिलेश यादव की सरकार ने योगी आदित्यनाथ को इलाहाबाद की सीमा पर रोक दिया था, जिसके बाद वह छात्रसंघ के कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *