ब्रेकिंग न्यूज़ अपडेट

राशन डीलरों की मनमानी से ग्रामीण परेशान, उपभोक्ताओं को नही दिया जा रहा पूरा राशन,

गंगोह /सहारनपुर
गंगोह ब्लॉक के गांव कुन्डा कला में राशन डीलर सारे नियम कानून ताक पर रख कर राशन वितरित कर रहे है, गेहूं और चावल दोनों चीजे राशन कार्ड धारको को देनी होती है लेकिन यहाँ अपनी हट धर्मी पर अड़े राशन डीलर सिर्फ चावल ही वितरित कर रहे है। ग्रामीणों का कहना है कि गांव के डिपोहोल्डर द्वारा 08 मार्च से वितरित किया जा रहा राशन अगले दिन 09 मार्च को ही खत्म हो गया, 10 मार्च को कार्ड धारकों को सिर्फ चावल दिए गए। यही नही यूनिटों को कम दिखा कर दिए जाने वाले राशन में जबरदस्त कटौती की जा रही है। वहीं बहुत से राशनकार्ड तो ऐसेे नामों से बने हुवे हैं जिनका वजूद दुनिया मे ही बाकी नही है। और उनके नाम का राशन राशन डीलर द्वारा खुद डकार जा रहा है।

गांव के वकील का कहना है कि हमारे सात यूनिट हे लेकिन हमें पांच यूनिट का राशन दिया गया है, राशिद पत्नी मुरसलीन का कहना है कि हमारे छः यूनिट हैं लेकिन हमे दो यूनिट का ही अनाज दिया गया है। शमशिदा पत्नी वसीम का कहना है कि हमारे दो यूनिट हैं परंतु हमे एक यूनिट का ही राशन दिया जा रहा है। फरमान पुत्र का कहना है कि हमारे ग्यारह यूनिट हैं हमे छः यूनिट का ही राशन दिया गया है, यामीन ऊर्फ मिन्नू का कहना है कि हमारे ग्यारह यूनिट हे लेकिन हमें छः यूनिट का राशन दिया है इक़बाल पुत्र शफीक का कहना है कि हमारा राशन कार्ड ही काट दिया गया है।
ग्रामीणों का आरोप है कि राशन डीलर के बेटे का ही गाँव में जनसेवा केंद्र है, वह जिसके चाहे नाम जोड़ देते है जिसके चाहे काट देते हैं। इस तरह के सेंकडो कार्ड धारकों के साथ किया जा रहा है। गौरतलब है कि इससे पूर्व में भी राशन डीलर की मनमानी को लेकर कुछ ग्रामीणों द्वारा उठाया गया था परन्तु राशन डीलर ने अपनी दबंगता और पैसे के बलबूते अधिकारियों से सांठगांठ कर मामले को दबवा दिया, उस समय भी राशन डीलर के विरुद्ध कई आरोप लगाए गए थे परंतु उनमे कोई कार्यवाही नही हो सकी। बड़ा सवाल ये कि क्या गरीबों का राशन डकार रहे ऐसे राशन डीलरों के खिलाफ कोई कार्येवाही अधिकारियों द्वारा की जाएगी,

*रिपोर्ट*
*रागिब राणा इंडिया लाइव टीवी24*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *