ब्रेकिंग न्यूज़ अपडेट

जिस दिन इस देश के संविधान पर आंच आई तो भीमा कोरेगांव दोहरा देंगे: चंद्रशेखर आजाद

नई दिल्ली। दिल्ली के जंतर-मंतर पर बहुजन हुंकार रैली में चंद्रेशेखर ने कहा कि अगर जरूरत पड़ेगी तो भीमा-कोरेगांव दोहरा देंगे। कहा कि अभी ऐसी जरूरत नहीं है लेकिन जिस दिन देश के संविधान पर आंच आई तो भीमा-कोरेगांव भी दोहरा देंगे।

चंद्रशेखर ने मंच से कहा, वोट देने से पहले रोहित वेमुला की शहादत को याद रखना, ऊना कांड भी याद होगा और शब्बीरपुर को भी याद रखना, 2 अप्रैल भूले तो नहीं हो, किसने गोली चलाई, किसने मारा हमारे लोगों को, क्या उनकी कुर्बानी भूलकर वोट दोगे। याद रखना अत्याचारी तो अत्याचारी ही होता है, ये मनुवाद के पोषक हैं। जरूरत पड़ी तो भीमा-कोरेगांव दोहरा देंगे, हालांकि अभी इसकी जरूरत नहीं है लेकिन जिस दिन इस देश के संविधान पर आंच आई तो भीमा-कोरेगांव भी दोहरा देंगे। बता दें कि एक साल पहले महाराष्ट्र के भीमा-कोरेगांव में दलित संगठनों की ओर से आयोजित कार्यक्रम का कुछ दक्षिणपंथी संगठनों ने विरोध किया था। जिसके बाद भारी हिंसा हुई थी।

चंद्रशेखर ने इस दौरान कहा, मोदी सरकार हमारे साथ न्याय नहीं कर रही है। मैं कहता हूं कि हमें मरना भी पड़े तो भी मोदी को फिर से पीएम नहीं बनने देना है। चंद्रशेखर ने कांशीराम की बहन को सपा-बसपा गठबंधन की ओर से टिकट दिए जाने की गुजारिश भी की।

भीम आर्मी ने सहारनपुर से दिल्ली तक बहुजन सुरक्षा अधिकार यात्रा का ऐलान किया था। इसका नेतृत्व चंद्रशेखर कर रहे थे। मंगलवार को देवबंद में पुलिस ने आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में चंद्रशेकर को हिरासत में ले लिया था। पुलिस हिरासत में तबीयत बिगड़ने पर चंद्रशेखर को मेरठ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां गुरुवार शाम में उन्हें छुट्टी दे दी गई। इसके बाद शुक्रवार को वो दिल्ली पहुंचे और रैली में शामिल हुए।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी अस्पताल पहुंचकर चंद्रशेखर से मुलाकात की थी। प्रियंका ने कहा था कि ये नौजवान जिस तरह से लड़ रहा है और अपनी आवाज उठा रहा है, वो उन्हें पसंद आई है। चंद्रशेखर ने आगामी लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ इलेक्शन लड़ने का भी ऐलान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *